न्यूजीलैंड के खिलाफ कानपुर टेस्ट ड्रॉ रहने के बाद भारत के कोच राहुल द्रविड़ ने लिया बड़ा फैसला, हर कोई कर रहा तारीफ

भारतीय क्रिकेट टीम के नए कोच राहुल द्रविड ने शिव कुमार की अगुवाई में कानपुर के ग्रीन पार्क मैदान में बेहतरीन पिच तैयार करने वाले कर्मचारियों को 35,000 रुपये की प्रोत्साहन राशि से सम्मानित किया है। भारत में जन्मे एजाज पटेल और रचिन रविन्द्र ने सोमवार को ग्रीन पार्क में शानदार संयम का परिचय देते हुए आखिरी विकेट बचाकर मेजबान टीम के खिलाफ न्यूजीलैंड को हार से बचा लिया। उत्तर प्रदेश क्रिकेट संघ (यूपीसीए) ने खेल के बाद प्रेस बॉक्स में घोषणा की, ”हम एक ऑफिशियल घोषणा करना चाहते हैं। राहुल द्रविड़ ने हमारे मैदानकर्मियों को व्यक्तिगत रूप से 35,000 रुपये दिए है।”

अपने समय में द्रविड़ को निष्पक्ष खेल भावना के लिए जाना जाता था। मैदानकर्मियों को मिली प्रोत्साहन राशि इस बात का प्रतीक था कि पिच में मैच के पांचों दिन गेंदबाजों और बल्लेबाजों के लिए कुछ था। इस पिच पर जहां शानदार तकनीक दिखाने वाले श्रेयस अय्यर, शुभमन गिल, टॉम लाथम और विल यंग जैसे बल्लेबाजों ने रन बनाए तो वहीं टिम साउदी और काइल जैमीसन जैसे तेज गेंदबाजों ने भारत के टॉप ऑर्डर को परेशान किया। पिच से भारतीय स्पिनरों को भी मदद मिली।

द्रविड़ ने अश्विन की उपलब्धि को बताया अभूतपूर्व
भारतीय कोच राहुल द्रविड़ ने ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन को मैच विजेता करार देते हुए कहा कि टेस्ट क्रिकेट में देश का तीसरा सबसे सफल गेंदबाज बनने की उपलब्धि बेहद ही खास है। अश्विन ने न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले टेस्ट के पांचवें और आखिरी दिन टॉम लाथम को आउट कर अपना 418वां टेस्ट विकेट लिया और हरभजन सिंह को पीछे छोड़ दिया। वह अब अनिल कुंबले (619) और कपिल देव (434) से ही पीछे हैं। द्रविड़ ने मैच के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ”मुझे लगता है कि यह एक अभूतपूर्व उपलब्धि है। आप जानते हैं कि हरभजन वास्तव में एक बेहतरीन गेंदबाज थे, जिनके साथ मैंने काफी क्रिकेट खेला है। अश्विन का सिर्फ 80 टेस्ट मैचों में उनसे आगे निकलना एक अभूतपूर्व उपलब्धि है।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top