जानें कौन है नीम करोली बाबा, पीएम मोदी और मार्क जुकरबर्ग भी हैं इनके भक्त

भारत का अध्यात्म सदियों से दुनिया के लिए आकर्षण और जिज्ञास का विषय रहा है. भारत के संतों, योगियों और गुरूओं की कई चमत्कारिक कहानियां विदेशों में प्रचलित है.

आज भारत के एक ऐसे ही संत की पुण्यतिथि है जिनके भक्त दुनियाभर में फैले हुए हैं. हम बात कर रहे हैं उत्तराखंड के कैंचीधाम वाले संत महात्मा नीम करौली महराज की. नीम करौली बाबा का जन्म उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद जिले के गांव अकबरपुर में हुआ था. 11 सितंबर 1973 को उन्होंने महासमाधि ली थी.

नीम करौली बाबा के भक्तों में एप्पल कंपनी के संस्थापक स्टीव जॉब्स, फेसबुक के मालिक मार्क जुकरबर्ग, हॉलीवुड अभिनेत्री जूलिया रॉबर्ट्स तक का नाम शामिल है. उत्तराखंड के कैंचीधाम की बड़ी मान्यता है, कहते हैं कि यहां पहुंचकर सच्चे मन से माथा टेकने वालों की हर इच्छा पूरी होती है.

एप्पल कंपनी के संस्थापक स्टीव जॉब्स 1974 से 1976 के बीच भारत भ्रमण पर निकले. वह टूरिज्म के मकसद से भारत नहीं आए थे. वह अध्यात्मिक खोज में यहां आए थे उन्हें एक सच्चे गुरू की तलाश थी. स्टीव पहले हरिद्वार पहुंचे और इसके बाद वह कैंची धाम तक पहुंच गए. यहां पहुंचकर उन्हें पता लगा कि बाबा समाधि ले चुके हैं.

कहा तो यह भी जाता है कि स्टीव को एप्पल के LOGO का आइडिया बाबा के आश्रम से ही मिला था. नीम करौली बाबा को कथित तौर पर सेब बहुत पसंद थे यही वजह थी कि स्टीव ने अपनी कंपनी के लोगों के लिए कटे हुए एप्पल को चुना. हालांकि इस कहानी की सत्यता के बारे में कुछ नहीं कहा जा सकता है.

बाबा से जुड़ा एक किस्सा फेसबुक के मालिक मार्कजुकरबर्ग ने 27 सितंबर 2015 को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को बताया था तब पीएम मोदी फेसबुक के मुख्यालय में गए थे. इस दौरान जुकरबर्ग ने पीएम को भारत भ्रमण की बात बताई. उन्होंने कहा कि जब वे इस संशय में थे कि फेसबुक को बेचा जाए या नहीं, तब एप्पल के फाउंडर स्टीव जॉब्स ने इन्हें भारत के एक मंदिर में जाने की सलाह दी थी.

जुकरबर्ग ने बताया था कि वे एक महीना भारत में रहे. इस दौरान वह इस मंदिर में भी गए थे. जुकरबर्ग आए तो यहां एक दिन के लिए थे, लेकिन मौसम खराब हो जाने के कारण वह यहां दो दिन रुके थे. जुकरबर्ग मानते हैं कि भारत में मिली अध्यात्मिक शांति के बाद उन्हें फेसबुक को नए मुकाम पर ले जाने की ऊर्जा मिली.

हॉलिवुड की मशहूर अदाकारा जूलिया रॉबर्ट्स ने 2009 में हिंदू धर्म अपना लिया था. वह फिल्म ‘ईट, प्रे, लव’ की शूटिंग के लिए भारत आईं थीं. जूलिया रॉबर्ट्स ने एक इंटरव्यू में यह खुलासा किया था कि वह नीम करौली बाबा की तस्वीर से इतना प्रभावित हुई थीं कि उन्होंने हिन्दू धर्म अपनाने का फैसला कर डाला. जूलिया इन दिनों हिन्दू धर्म का पालन कर रही हैं. वो अपने पति और तीनों बच्चों के साथ मंदिरों में प्रार्थना करने भी जाती हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top