फरदीन को बेल दिलाने वाले वकील ने किया बड़ा खुलासा, बताया क्यों नहीं हो रही आर्यन की जमानत

मुंबई क्रूज ड्रग्स मामले में फंसे आर्यन खान की जमानत पर एक बार फिर टल गई. इससे पहले मुंबई की सेशंस कोर्ट में इस केस पर करीब तीन बजे सुनवाई शुरु हुई थी. जिसमें एनसीबी और आर्यन के वकील ने जमानत के मसले पर दलीलें पेश की. शाम करीब पौने 6 बजे तक सुनवाई चलती रही. इसके बाद अदालत ने जमानत पर अपना फैसला अगले दिन यानी गुरुवार तक के लिए टाल दिया. नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) की टीम लगातार कोशिश कर रही है कि आर्यन को जमानत ना मिल पाए. एनसीबी ने बुधवार को अदालत में क्या दलील देकर मामला अटकाया, बताते हैं आपको.

किंग खान के बेटे आर्यन खान को अभी एक रात और आर्थर रोड जेल में ही बितानी पड़ेगी. सेशंस कोर्ट उनकी जमानत पर 14 अक्टूबर यानी गुरुवार को अपना फैसला सुनाएगी. नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) की टीम आर्यन की जमानत में पहले दिन से ही रोड़े अटका रही है. एनसीबी ने बुधवार को जमानत पर अपना जवाब दाखिल करते हुए कोर्ट से कहा कि इस मामले में एक आरोपी की भूमिका को दूसरे के जर‍िए से नहीं समझा जा सकता है.

साल 2001 में अभिनेता फरदीन खान, नासिर शेख से सिर्फ एक ग्राम कोकीन खरीदने की कोशिश कर रहे थे. हालाँकि नासिर के पास से 9 ग्राम कोकीन मिली थी. एक ग्राम ड्रग्स का मामला जमानती अपराध था. दरअसल उस समय बेहद छोटी मात्रा ने नशीले चीज मिलने पर सिर्फ 10000 का जुर्माना या एक दिन से छ महीनें की सजा थी. जिसके कारण अयाज खान की दलीलों के बाद कोर्ट ने महज 3 दिन में फरदीन को जमानत दे दी थी.

फरदीन खान से आर्यन खान के मामलें की तुलना करते हुए अयाज ने कहा, “आर्यन के मामले में दिक्कत यह है कि एनसीबी ने शुरूआत में उपभोग के लिए मामला दर्ज किया और उन्होंने धारा 27, 28 और 29 लगा दी. धारा 28 उपभोग करने का प्रयास है, धारा 29 है उपभोग करने की साजिश और धारा 27 भी उपभोग के लिए है.”

उन्होंने आगे कहा कि आर्यन की हिरासत मिलने के बाद एनसीबी को मौका मिल गया और वे उसकी व्हाट्सएप चैट की जांच कर सके. उसके बाद कई और बातें भी सामने आईं और आर्यन के खिलाफ मामला मजबूत होता गया. अयाज खान वही वकील हैं जिसने हाल ही में कॉमेडियन भारती और उनके पति हर्ष लिम्बाचिया का केस संभालते हुए उन्हें भी बेल दिलाई थी. भारती के घर-ऑफिस से गांजा मिला था.

एनसीबी का तर्क है कि भले ही आर्यन के पास ड्रग्स नहीं मिली हो लेकिन वह ड्रग्स पेडलर के संपर्क में थे. ये एक बड़ी साजिश है. इसकी जांच जरूरी है. आर्यन खान पर कॉन्ट्राबैंड खरीदने का आरोप लगा था, जबकि वो कॉन्ट्राबैंड अरबाज मर्चेंट के पास से बरामद किया गया था. कोर्ट में बताया गया कि विदेशों में ड्रग्स से जुड़े लेन-देन को लेकर भी एनसीबी की जांच चल रही है. एनसीबी ने दलील देते हुए कहा कि इस केस के पीछे एक बड़ी साजिश और गैंग है. एनसीबी ने अदालत से अपील करते हुए कहा कि आर्यन खान, अरबाज मर्चेंट और मुनमुन धानेचा को जमानत नहीं मिलनी चाहिए.

एनसीबी ने कोर्ट को बताया कि पूछताछ में आर्यन खान आरोपी पाए गए हैं. वह विदेश में किसी व्यक्ति के संपर्क में थे. वो एक इंटरनेशनल ड्रग नेटवर्क का हिस्सा हैं. इस मामले में आगे की छानबीन जारी है. एनसीबी का दावा है कि आर्यन अरबाज से ड्रग्स लेते थे और अरबाज के जरिए उन्होंने कई बार ड्रग्स खरीदी है. पकड़े जाने के वक्त अरबाज मर्चेंट के पास से छह ग्राम चरस बरामद हुई थी. एनडीपीएस एक्ट के सेक्शन 29 तहत आर्यन और अरबाज को आरोपी बनाया गया है.

उधर, आर्यन खान के वकील ने अदालत में साफ कहा कि आर्यन खान के पास किसी तरह का कोई ड्रग्स नहीं मिला है. उनके पास से कैश भी बरामद नहीं हुआ. आर्यन खान, मुनमुन धमेचा को भी नहीं जानते हैं. एनसीबी ने तीनों को क्रूज से अरेस्ट करते हुए एक साथ पेश किया है. लेकिन आर्यन खान का मुनमुन से कोई कनेक्शन नहीं है. एनसीबी मामले को उलझाने की कोशिश कर रही है. वो किसी भी तरह आर्यन की जमानत के रास्ते में बाधा खड़ी कर देती है.

आपको बताते चलें कि बीती 3 अक्टूबर को मुंबई से गोवा जा रहे लग्जरी क्रूज शिप कोर्डेलिया में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने छापेमारी की थी. जहां एनसीबी ने बॉलीवुड सुपरस्टार शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान समेत आठ लोगों को गिरफ्तार किया था. हालांकि आर्यन के पास से ना तो ड्रग्स मिली थी और ना ही कैश. इस मामले में पहले दिन से ही एनसीबी की कार्रवाई को लेकर सवाल उठ रहे हैं. कई ऐसे सवाल हैं, जिनके जबाव एनसीबी नहीं दे पा रही है.Live TV

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top